अपनी बीवी को उसके बॉयफ्रेंड से रगड़कर चुदवा दिया

Desi kahani दोस्तों मैं रवि आप सभी का इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम में बहुत बहुत स्वागत करता हूँ। दोस्तों कॉलेज में मेरी मुलाक़ात एक बड़ी ही खूबसूरत लड़की से हो गयी थी। उसका नाम प्रिया रानी था। उसका जिस्म काफी भरा हुआ था। उसे देखते ही मेरा लंड खड़ा हो जाता था। मन करता था की काश इस लड़की से मेरी शादी हो जाए। धीरे धीरे मैंने उसे लाइन मारना शुरू कर दिया। प्रिया रानी के होठ तो बहुत सेक्सी थे। भरा हुआ जिस्म था। उसका फिगर 34 28 32 का था। धीरे धीरे मैं क्लास में उसके पास ही बैठने लगा। मैं उसके लिए कई कविताये भी लिखी और उनको पटा लिया। हमारे कॉलेज की लाइब्रेरी बहुत बड़ी है। वहां पर सैकड़ों अलमारी है जिसमे तरह तरह की किताबे भरी हुई है। एक दिन मैंने अपनी गर्लफ्रेंड प्रिया रानी को लाइब्रेरी में ही पकड़ लिया और उसके गुलाबी होठो पर मैंने अपने होठ रख दिए। उसके बाद तो मैं उकसे खूबसूरत होठो को चूसने लगा। दोस्तों मेरा 8” का लंड पूरी तरह से खड़ा हो गया था। मैंने अपनी गर्लफ्रेंड प्रिया रानी को एक अलमारी से सटाकर खड़ा कर दिया और 15 मिनट तक मैंने उसके रसीले होठ चूसे। ओह्ह्ह गॉड!! कितने हसीन और सेक्सी होठ थे बिलकुल संतरे की तरह।

“बहन की लौड़ी!! तुझे कितने दिनों से लाईब्रेरी में बुला रहा था। क्यों नही आ रही थी। क्या अपनी माँ चुदा रही थी??? मैंने प्रिया रानी से पूछा
“वो रवि!! कॉलेज में ये सब अच्छा नही लगता है ना….किस विस करना” प्रिया बोली उसके बाद फिर से मैं उसके होठ चूसने लगा। तभी मेरा हाथ उसके 34” की बायीं चूची पर चला गया और मैंने कसके दबा दिया। “उ उ उ उ उ……अअअअअ आआआआ… सी सी सी सी….. ऊँ—ऊँ…ऊँ….” वो चिल्लाई
“अच्छा शाम को अपने घर के पीछे वाले गार्डन में मिलने आएगी???” मैंने प्रिया से पूछा
“नही मम्मी शाम को घर से बाहर जाने को मना करती है” प्रिया बोली
उसका जवाब सुनकर तो मेरा दिमाग खराब हो गया।
“एक दिन तुझे भी कसके चोदूंगा और तेरी माँ की चूत भी चोद चोदकर फाड़ दूँगा छिनाल!!” मैंने कहा और उसकी सलवार के उपर से मैं काफी देर तक उसकी चूत को सहलाता रहा। उसे चोदने का मेरा बहुत दिल कर रहा था। एक दिन मैंने उसे बहाने से रविवार को बुलाया। मैं अपनी गर्लफ्रेंड को अपने एक दोस्त के घर ले गया चोदने के लिए। पर प्रिया मना करने लगी। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम

“रवि!! प्लीस अभी मेरी चूत मत मारो। शादी के बाद मुझे जी भरकर चोद लेना” प्रिया बोली
दोस्तों मुझे प्रिया से शादी तो करनी ही थी। 6 महीने बाद मैंने उससे शादी कर ली। जैसे ही मैं अपनी सुहागरात वाले कमरे में आया मैंने प्रिया को पकड़ लिया और उसके गुलाबी होठ चूसने लगा। कितना अरमान था मेरा की इस गुलाबी संतरे जैसे दिखने वाले होठो में अपना लंड दे दूँ और जी भरकर चूसवाऊं। मैं अपने सारे कपड़े निकाल दिए। पूरी तरह से नंगा हो गया था। उसके बाद मैंने प्रिया को नंगा होने को कह दिया। धीरे धीरे उसने अपनी साड़ी निकाल दी। फिर ब्लाउस और पेटीकोट खोल दिया। अपनी ब्रा और पेंटी भी उनसे निकाल दी। दोस्तों उसके मम्मे इतने सुंदर थे की आपको कैसे बताऊँ। बस समझ लीजिये की बड़ी बड़ी मुसम्मी मेरे सामने थी। मैं आज जल्दी से अपनी बीवी को चोद लेना चाहता था। गर्लफ्रेंड से अपनी बीवी बन चुकी प्रिया रानी के उपर मैं लेट गया और जल्दी जल्दी उसके आम चूसने लगा। मुझे जन्नत जैसा मजा मिल रहा था।
इतनी नर्म, रसीली चूचियां थी की आपको क्या बताऊं। मैंने बहुत देर तक उसकी दाई और बायीं चूची को मुंह में लेकर चूसा। मेरा लंड अब पूरी तरह से खड़ा हो गया था। आज प्रिया रानी को चोदकर मैं अपनी सुहागरात पूरी करना चाहता था। उसकी चूची में बड़े बड़े काले सेक्सी छल्ले थे जो बहुत ही हॉट और सेक्सी लग रहे थे। मैंने जी भरकर उसकी चूची को चूसा था। मुझे तो भरपूर आनंद मिल रहा था। उसके बाद मैंने अपनी बीबी प्रिया के बगल लेट गया। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“डार्लिंग!! जरा मेरे लौड़े को मुंह में तो लो। कबसे तुम्हारे मुंह में लेने का अरमान है” मैंने अपनी बीवी से कहा

प्रिया ने मेरे लौड़े को पकड़ लिया और जल्दी जल्दी उपर नीचे करके फेटने लगी। मुझे तो स्वर्ग जैसा महसूस हो रहा था। फिर वो मेरी कमर पर लेट गयी और मेरे 8” के लौड़े को मुंह में ले लिया। उसके बाद प्रिया मेरे लंड को चूसने लगी। मुझे अभूतपूर्व सुख मिल रहा था। प्रिया के मुंह में लंड देने की तमन्ना मेरी शुरू से थी। आज वो पूरी हो रही थी। फिर तो प्रिया भी खुल गयी और मजे से मेरे लंड को जल्दी जल्दी फेटने लगी और मुंह में लेकर चूसने लगी। उसके गुलाबी रसीले होठ मेरे रसीले लौड़े पर दौड़ रहे थे। मैंने उसके सेक्सी पुट्ठो को हाथ से सहलाने लगा। आज मुझे आखिर उसकी चूत मारने का मौका मिल ही जाएगा। मैं यही बात सोच रहा था। प्रिया जैसी हुस्न परी की कुवारी चूत भोगने की इक्षा मेरी शुरू से थी। आज मेरा सपना पूरा होने वाला था। मेरी बीवी प्रिया से आधे घंटे तक मेरे लंड को जोर जोर से अपने हाथ से फेटा और मुंह में चूसा। अंदर गले की गहराई तक लेकर वो चूस रही थी। कोई प्रोफेसनल छिनाल की तरह चूस रही थी। आज वो भी मेरा मोटा लंड खाना चाहती थी।
उसके बाद मैंने उसे सीधा लिटा दिया। उसके पैर मैंने खोल दिए। दोस्तों जैसे ही मैंने उसकी चूत चाटनी शुरू की वो खुली हुई थी। मेरी बीवी की चूत की सील टूटी हुई थी। और फटी हुई थी। प्रिया कुवारी नही थी। मैंने ऊँगली से ऊँगली चूत खोली तो वो काफी चुदी चुदाई खायी खेलाई थी। मेरी झाटें लाल हो गयी थी। मेरे साथ धोखा हुआ था। मेरी बीबी किसी और लड़के से फसी हुई थी और कई बार चुदवा भी चुकी थी। मेरे साथ बहुत बड़ा धोखा हुआ था। मेरी आँखों में खून उतर आया था।
“छिनाल!! ये क्या???? तेरी चूत की सील तो टूटी है। बोल किसने तेरी चूत की सील तोड़ी। बोल रंडी???” मैंने क्रोधित होकर पूछा पर प्रिया को जैसे सांप सूंघ गया था। वो बिलकुल शांत थी। फिर मैंने उसके गाल पर 2 – 4 चांटे मार दिए।
“बता नही तो अभी तेरे बाप को फोन लगा रहा हूँ” मैंने कहा और अपना मोबाइल हाथ में उठा लिया। फिर प्रिया ने बताया की वो अपनी बुआ के लड़के से फसी हुई थी। उसी से प्रिया की चूत की कुवारी सील तोड़ी और उसको चोदा। प्रिया ने बताया की वो अपनी बुआ के लड़के से 4 साल से फसी थी। इसका मतलब उस बहनचोद प्रिया की चूत 4 साल तक चोदी। ये सब सुनकर तो मेरा जान देने का मन कर रहा था। रंग में भंग पड़ गया था। जी कर रहा था की अपनी चुदी चुदाई अल्टर बीबी को ……….. दूँ। मैंने अपनी सुहागरात अपनी फिर अपनी बीवी प्रिया की चूत नही मारी। कपड़े पहन कर बाहर चला गया। 1 महीने तक मैंने अपनी बीवी से बात नही की। जब भी उसके पास जाता तो यही सोचता की वो कितनी बड़ी छिनाल है। अपने बुआ के लड़के का लंड उसने खूब खाया है। पर दोस्तों मैं उससे प्यार भी बहुत करता था। इसलिए 1 महीने बाद मैंने अपनी चुदक्कड़ बीबी से बोलना शुरू कर दिया। मैंने उसको माफ़ कर दिया। रात मे मैंने उसे नंगा कर दिया। जब उसकी चूत में मैंने अपना लंड डाला तो बिलकुल कसावट नही मिली। प्रिया की चूत काफी ढीली थी। पर अब वो मेरी बीवी थी। उसे चोदना अब मेरा था। इसलिए मैंने उसे चोदना शुरू कर दिया।

धीरे धीरे मुझे मजा मिलने लगा। हालाँकि एक कुवारी लड़की को चोदने का जो मजा मिलता है वो मुझे नही मिल रहा था। पर अब प्रिया मेरी बीवी थी। मैंने उसके दोनों पैर खोल दिए। उसकी चूत में धक्के मारना शुरू कर दिया। कुछ देर बाद प्रिया की चूत से सफ़ेद रंग का मक्खन निकलने लगा। मेरा 8” का लंड जल्दी जल्दी उसकी चूत में फिसलने लगा। प्रिया “….उंह उंह उंह हूँ.. हूँ… हूँ..हमममम अहह्ह्ह्हह..अई…अई…अई…..” की आवाज निकालने लगी। उसने मुझे बाहों में भर लिया था। मैं उसे जल्दी जल्दी चोदने लगा। दोस्तों कुछ ही देर में मेरे लौड़े रफ्तार पकड़ ली थी। मैं जल्दी जल्दी आज अपनी बीवी को पेल रहा था। कुछ देर में प्रिया की चूत से चट चट पट पट की शानदार आवाज आ रही थी। वो चुद रही थी। मैं भी ऐश कर रहा था। फिर मैंने अपने हाथ उसके बूब्स पर रख दिए और उसकी कड़ी कड़ी उठी निपल्स को मैं अपनी ऊँगली से घुमाने लगा। प्रिया “आऊ…..आऊ….हमममम अहह्ह्ह्हह…सी सी सी सी..हा हा हा..” की मधुर सिकारियाँ लेने लगी। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
मैं सोचने लगा की चलो कुछ साल प्रिया को उसके बुआ के लड़के ने चोद लिया तो क्या हुआ। अब सारी जिन्दगी तो इस खूबसूरत माल की चूत का भोग मैं ही लगाउंगा। ये सब सोच कर दोस्तों मैं और जादा जोश में भर दिया था। मेरी कमर गोल गोल नाचकर प्रिया रानी की चूत मार रही थी। वो बार बार अपनी गांड हवा में उठा देती थी। मुझे इस तरह उसका गर्म होना बहुत अच्छा लग रहा था। फिर मैं उसपर लेट गया और उसकी सांसें पीने लगा। 25 मिनट तक मैंने अपनी बीवी को रगड़कर चोदा और चूत में ही माल गिरा दिया। उसके बाद हम पति पत्नी में दोस्ती हो गयी और हम दोनों रात में रोज चुदाई करते थे।
दोस्तों मैं रोज सोचता की काश मुझे प्रिया की चुदाई उसके बुआ के लड़के से होते हुए देखने को मिल जाए तो कितना मजा आये। धीरे धीरे मेरा मन करने लगा की प्रिया के बुआ के लड़के को घर पर बुलाऊँ और दोनों मिलबाटकर प्रिया रानी की चूत ढीली कर दे। इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम
“जान!! अपने बुआ के लड़के से चुदाने का मन है बोलो” मैंने एक दिन अपनी बीवी से पूछा
प्रिया चुप थी। क्यूंकि वो अपने बुआ के लड़के से सच्चा प्यार करती थी।

“अगर मन है तो आज रात 12 बजे अपने बुआ के लड़के को बुला ले। फिर हम दोनों मिलबाटकर तेरी गुलाबी रसीली चूत का भोग लगाएँगे” मैंने अपनी बीवी प्रिया से कहा
रात के 12 बजे उसकी बुआ का लड़का आ गया। रात में उसे बुलाना सही थी जिससे कोई हमारे काण्ड के बारे में जान ना सका। उसका नाम सुनील था। मैंने उससे हाथ मिलाया।
“ओह्ह हो हो….तू तुम ही सुनील हो। बर्खुरदार तुमसे मिलना का बहुत मन था मेरा। मैं देखा चाहता था की आखिर किस मर्द ने मेरी कुवारी बीबी का भोसड़ा चोद चोद कर फाड़ दिया” मैंने कहा तो सुनील हँसने लगा।
“देखो सुनील!! वैसे तो मुझे मिल बाटकर खाना पसंद नही है। पर मेरी बीबी प्रिया आज भी तुमसे बहुत प्यार करती है। इसलिए चलो साथ में आज इसकी चूत चोदते है” मैंने कहा
“जरुर” सुनील बोला
अपने पुराने आशिक को देखकर मेरी बीवी के चेहरे पर एक ख़ास मुस्कान आ गयी थी। आज मेरी औरत अपने आशिक से कसके चुदना चाहती थी। हम दोनों बेडरूम में आ गये। मैंने और सुनील ने अपने कपड़े उतारना शुरू कर दिए। उधर मेरी चुदासी और चुदक्कड़ बीवी अपनी साड़ी उतारने लगी। फिर प्रिया पूरी तरह से नंगी हो गयी। मैं और सुनील उसके अगल बगल लेट गयी। प्रिया की बायीं चूची को मैंने चूसने लगा तो दाई चूची को उसका पुराना यार चूसने लगा। मुझे आज बहुत रोमांच हो रहा था। मैं अपनी छिनाल बीबी को सुनील से चुदवाते हुए देखना चाहता था। हम दोनों प्रिया के मस्त मस्त आम को दबा भी रहे थे। कुछ देर बाद वो गर्म हो गयी थी और चुदने को रेडी थी।
“भाई सुनील!! पहले इस आवारा को तुम ही चोद लो” मैंने कहा
उसके बाद सुनील मेरी बीवी की चूत की साइड आ गया। प्रिया के दोनों पैर उसने खोल दिए। उसका लंड 7” का खूब मोटा था। सुनील ने अपना लौड़ा मेरी बीवी की चूत में डाल दिया और चोदने लगा। कुछ देर बाद सुनील जल्दी जल्दी मेरी औरत को चोदने लगा। प्रिया “अई…..अई….अई… अहह्ह्ह्हह…..सी सी सी सी….हा हा हा…” की आवाज निकाल रही थी। मैंने अपने 8” के लौड़े को हाथ में ले लिया और फेटने लगा। मुझे अपनी बीवी की चुदाई देखकर बहुत मजा मिल रहा था। सुनील ने मेरी बीबी और अपनी पुरानी प्रेमिका को आधे घंटे चोदा और माल उसकी चूत में छोड़ दिया। फिर मैंने अपनी बीवी की चूत मारी।

कहानी शेयर करें::