पिया अपनी बहन सविता की चूत को चाटने लगी और सविता ने अपनी दीदी की चूत में डिलडो डाल के उसे चोदा

antarvasna story ये हिंदी लेस्बियन कहानी सविता और पिया की हे. सविता की उम्र 22 साल और उसकी बहन पिया की उम्र उस से दो साल ज्यादा हे.  ये दोनों बहने एक दुसरे से बड़ा प्यार करती थी और कहे की जान छिड़कती थी दोनों एक दुसरे के ऊपर. वो अक्सर एक साथ बैठ के लड़कों की और चुदाई की बातें भी करती थी. और फिर धीरे धीरे वो एक दुसरे के बदन को प्यार देने लगी. ये सब कैसे हुए वो पढ़े.

डिनर करने के बाद पिया अपने लेपटोप के ऊपर वर्क करने बैठी थी. सविता उसके पास गई और बोली, दीदी एक बात बताओ ना.

पिया ने कहा, क्या?

सविता ने कहा: मुझे शादी के बाद फर्स्ट नाईट में लड़का और लड़की क्या करते हे वो बताओ ना.

पिया ने हंस के जवाब दिया, अरे बाबा मस्ती मारते हे और क्या करेंगे.

सविता ने झिझकते हुए कहा. दीदी मैंने तो सुना हे की वो लोग दोनों नंगे हो के कुछ करते हे.

पिया ने कहा, अरे यार तेरे को इतना सब तो पता हे फिर क्यूँ पूछ रही हे?

सविता ने थोड़ी नोटी स्माइल के साथ कहा, दीदी मजा आता हे ना!

पिया ने सविता से कहा तुझे देखना हे की वो लोग क्या करते हे?

सविता ने कहा, हां पर कैसे देखूंगी दीदी?

पीया ने अपने लेपटोप के ऊपर एक पोर्न फिल्म लगाते हुए कहा, ये ले देख ले.

और पिया उठ के कमरे से कुछ लेने के लिए चली गई. सविता ने ध्यान लगा के पोर्न मूवी देखना चालू कर दिया. और वो पोर्न देखते हुए अपने बूब्स को अपने हाथ से मसलने लगी. तभी पिया वापस आ गई कमरे के अन्दर.

और उसने सविता को देख के कहा. देख लिया ये सब करते हे शादी वाली रात यानि की सुहागरात में.

सविता ने अपनी बहन से पूछा, दीदी क्या सच में लडको के पास इतना बड़ा हथियार होता हे?

ये सुनते ही पिया हंस पड़ी और पूछा, कभी असल में देखा नहीं हे किसी का?

सविता ने अपनी मुंडी को ना में हिला दी!

पिया ने अपना लेपटोप बंद किया और वो सविता को ले के बेड पर चढ़ गई. सविता को नींद नहीं आ रही थी क्यूंकि ब्ल्यू फिल्म देख के उसकी चूत में आग सी लगी हुई थी. वो अपनी चुंचियां मसल के सिसकियाँ रही थी. और उसकी बहन पिया सब देख रही थी. और अपनी छोटी बहन को ऐसे देख के पिया के मन में भी गुदगुदी सी होने लगी थी. उसने सविता के बाजू करवट ली और उसके सर में एकदम प्यार से अपना हाथ फेर दिया. उसने सविता को पूछा, क्या हुआ इतनी बेचेन क्यूँ हे तू?

सविता ने चुदासी अंदाज और स्वर में कहा, दीदी मुझे कुछ हो रहा हे. पीया ने सविता का हाथ उसके बूब्स पर से दूर कर के कहा, ऐसे सब करेगी तो बेचेनी और बढ़ जायेगी मेरी बहन.

सविता ने कहा, दीदी सच में मेरा कंट्रोल ही नहीं हे जैसे बदन के ऊपर.

पिया ने कहा मैं मदद कर दूँ?

सविता शायद इसकी ही वेट कर रही थी. उसने हाँ कहा और पिया ने अपने दोनों हाथ से अपनी छोटी बहन के बूब्स पकड़ लिए और उन्हें दबाने लगी.

सविता एकदम सेक्सी स्वर में बोली, जोर जोर से मसल दो उन्हें दीदी.

सविता वासना के दरिया में डूबी हुई थी पीया ने अपने एक हाथ से सविता की गांड को पकड़ के उसे दबा दी.

जब पिया का हाथ सविता के गांड के छेद पर गया तो वो सिहर उठी. सविता ने दीदी का हाथ दूर कर के कहा, पीछे मत करो न दीदी बड़ी गुदगुदी होती हे.

पिया ने अब कहा, चलो खड़ी हो जाओ और अपने कपडे खोल दो.

सविता बोली, हां दीदी वैसे भी आज कपडे जैसे बड़े तंग से हो रहे हे मेरे. सविता अपने कपडे उतार रही थी तब पिया अपनी लेपटोप की टेबल की ड्रावर से कुछ निकाल के ले आई जिसे उसने अपने तकिये के निचे छिपा दिया.

फिर वो सविता को बोली, अब एकदम खुल्लम खुल्ला ही बातें करेंगे हम दोनों मजा आएगा ऐसे.

सविता ने आँख मार के कहा. यानी की चूत और लंड वाली भाषा में दीदी?

पिया ने कहा, हां वही भाषा में डार्लिंग!

सविता खुल के बोली, मजा आ जाएगा दीदी!

पिया बोली, डालिंग पहली बार में ऐसा ही फिल होता हे.

अब ये दोनों बहने एक दुसरे से लिपट गई और दोनों की ब्रिथिंग एक दुसरे से टकरा रही थी. दोनों के दिल जोर जोर से धडक रहे थे. अब पिया ने अपने होंठो को अपनी बहन के होंठो से लगा दिया और उसे किस दे दी. पिया की टंग सविता की टंग के साथ टकरा के उसे मजे दे रही थी. और फिर पिया के हाथ में सविता की चुन्चिया आ गई जिसके साथ वो खेलने लगी. और उसके बदले में सविता ने भी अपनी बहन के बूब्स को दबा दिया.

पिया बोली, जोर से दबा मेरे बूब्स को डार्लिंग, मेरी चूत में से भी पानी चूत रहा हे मेरी जान!

सविता चूत शब्द सुन के एकदम हॉट हो गई. वो बूब्स को जोर से दबा के बोली, दीदी फिर से एक बार कहो न चूत!

पिया बोली, जल्दी से ऊँगली कर मेरी चूत के अन्दर!

सविता, दीदी काश एक लंड होता अभी तो कसम से उसे कच्चा चबा जाती!

पिया ने अपनी एक ऊँगली को सविता की चूत में डाल दी और वो उसे चोदने लगी.सविता के मुहं से आवाज आया, हाय दीदी बड़ा मजा आ रहा हे चुदवा के.

पिया ने कहा, अरे अभी तो सिर्फ ऊपर ऊपर ऊँगली की हे, लंड जब चूत में जाता हे वो मजा कुछ और ही होता हे मेरी जान.

सविता बोली, तो फिर जल्दी से अपनी ऊँगली को और अन्दर डाल दो ना दीदी!

पिया ने कहा, तुझे चुदाई के असली मजे लेने हे?

सविता बोली, हां दीदी आज तो सब कुछ कर लेना हे मुझे.

पिया ने तकिये के निचे एक डिलडो छुपाया हुआ था . वो उसने अपने हाथ में लिया और बोली, देख ये रहा लंड बोल डाल दूँ तेरी चूत के अन्दर और चोद डालूं तुझे?

सविता एकदम चुदासी आवाज में बोली, दीदी जल्दी डाल दो इसे.

पीया ने डिलडो के आगे के हिस्से को अपने मुहं में लिया और उसे थूंक लगा के एकदम गिला कर दिया. फिर उसने सविता की टाँगे खोली और डिलडो का मुहं उसकी चूत पर लगा दिया. इस रबर के लंड के स्पर्श से ही सविता की मस्ती चार गुनी हो चुकी थी. वो कुछ कहती उसके पहले दीदी ने डिलडो को एंड से पकड के उसकी चूत में मारा. सविता के मुहं से हलकी चीख निकल गई क्यूंकि उसने चूत में आजतक कभी कुछ नहीं लिया था ऐसा! पिया जानती थी की सविता की चूत अभीतक वर्जिन ही थी. उसके लिए उसने डिलडो को स्लोवली स्लोवली ही सविता की चूत में डाला. जब 75% जितना डिलडो लंड अन्दर घुसा तो सविता आह आह्ह आह्ह ओह ओह करने लगी. और पिया ने अपनी चूत को सविता के मुहं के सामने रख के कहा, ले तू मेरी चूत को चाट ले.

सविता ने जबान को बहार निकाल के अपनी बड़ी बहन की चूत को किस कर ली. और फिर उसने जबान को चूत की दरार के ऊपर घिस दिया उतने में पिया ने पुरे डिलडो को सविता के चूत के अन्दर तक डाल दिया. सविता आह आह ओह ओह कर बैठी. और पिया डिलडो को उसकी चूत में अन्दर बहार करने लगी जैसे लंड चुदाइ के वक्त चूत में अन्दर बहार होता हे.

सविता की मस्ती अब एकदम बढ़ गई थी. उसने अपने हाथ से बहन की चूत को खोला और छेद के अन्दर जबान डाल के उसे चोदने लगी. पिया ने सविता को कहा, चल अब तू मेरी चूत को इस लंड से चोद.

सविता ने कहा, और तुम मेरी चूत चाटो.

पिया ने कहा हां मेरी जान.

और फिर पिया अपनी बहन सविता की चूत को चाटने लगी. और सविता ने अपनी दीदी की चूत में डिलडो डाल के उसे चोदा.

आधे घंटे तक ये लोग ऐसे ही डिलडो को एक दुसरे के बुर को डिलडो से चोदते रहे.

सविता का पानी चूत गया और वो थक गई. पिया ने डिलडो को चाट के साफ़ किया और बोली, जान अगली बार तेरी गांड मारूंगी इस से!

कहानी शेयर करें::