माया आंटी 40 साल की प्यारी और भोली औरत Episode 3

loading...

दूसरे दिन सुबह माया 6:30 बजे उठ जाती है और फ्रेश हो कर विक्की के लिए नास्ता बनाने लगती है। इधर विक्की सोया हुआ है, माया नास्ता तैयार कर के 7 बजे विक्की के रूम में जाती है।

loading...

माया – विक्की जल्दी उठो, मैं नास्ता तैयार कर चुकी हूँ और तुम अभी तक सोये हो ?
विक्की – सॉरी आंटी नींद नहीं खुली, मैं अभी तैयार होकर आता हूँ।
विक्की तैयार होकर आता है नास्ता करने लगता है।

माया – विक्की तुम नास्ता कर लो। मैं राजेश को उठा देती हूँ।
विक्की नास्ता कर के कॉलेज चला जाता है, और राजेश 10 बजे अपने ऑफिस। माया घर का काम करने लगती है, तभी 12 बजे डोर बेल बजती है, माया दरवाजा खोलती है।

loading...

माया- विक्की आ गए तुम, एग्जाम कैसा गया।
विक्की – माया आंटी एग्जाम अच्छा हुआ। अभी मेरा सर दर्द सुरु हो गया है।
माया – क्या हुआ ? अंदर आओ कमरे में जा कर लेट जाओ मैं पानी लाती हूँ।
विक्की अपने कमरे में जा कर कपडे बदल कर लेट जाता है।
माया – विक्की ये लो पानी। मैं पास के मेडिकल से दवाई ले आती हूँ।
विक्की – आंटी रास्ते में मेरे दोस्त का मेडिकल स्टोर पड़ता है, मैं दवाई ले आया हूँ
माया – ठीक है दवाई खा कर थोड़ा आराम करो मैं खाना बना रही हूँ।
विक्की दवाई खा कर आराम करने लगता है , माया किचन में खाना बना रही है,, 45 मिनट बाद माया खाना बना कर विक्की को बुलाने जाती है।

माया- विक्की अभी कैसा लग रहा है ?
विक्की – आराम करने से अभी सर दर्द काम हुआ है आंटी।
माया – चलो बेटा 1 बज रहे है खाना खा लेते है मुझे भूक लग रही, खाना खा कर तुम आराम कर लेना।
विक्की – ठीक है आंटी, चलो खाना कहते है। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।
माया और विक्की दोनों खाना खाते, खाना खाते हुए विक्की को अजीब सा महसूस होता है, विक्की का लंड खड़ा हो जाता है पूरी तरह सख्त किसी लोहे की रॉड की तरह।
विक्की जल्दी से खाना खाता है और कमरे में चला जाता है, माया किचन में बर्तन साफ़ कर के टीवी देखने लगती है तभी विक्की के लंड में तेज दर्द सुरु हो जाता है और विक्की दर्द से कराहने लगता है। माया जल्दी से उठ कर विक्की के कमरे की तरफ जाती है।

माया- क्या हुआ विक्की ?
विक्की – कुछ नहीं आंटी दर्द हो रहा है।
माया – बेटा थोड़ी देर पहले तो तुम्हारा सर दर्द ठीक हो गया था ना ?
विक्की- हा आंटी सर दर्द तो आराम कर के ठीक हो गया था, अभी पेट दर्द सुरु है।
माया – रुको मैं देखती हूँ , आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।
माया विक्की के पेट को देखने झुकती और माया को विक्की का कपडे के ऊपर से सख्त तना हुआ लंड दिखाई देता है। माया चौंक जाती है सोचने लगती है, ये क्या हो गया इसे? इसका इतना सख्त कैसे दिख रहा है।
माया- विक्की ये क्या है तुम्हारी पेन्ट क्यों फूली हुई है।
विक्की – पता नहीं आंटी अचानक बहोत तेज दर्द हो रहा है और मेरा पेनिस पूरा अकड़ गया है।
माया- लेकिन ऐसा कैसे हो सकता है ? कही दवाई का रिएक्शन तो नहीं हो गया ? कौनसी दवाई खायी है तुमने? दिखाओ मुझे।
विक्की माया को दवाई दिखाता है और दवाई में कुछ ऐसा नाम लिखा हुआ है जिसे देख कर माया घबरा जाती है।

माया – विक्की ये तो वियाग्रा की गोली है वो भी हाई डोज़ , तुम्हे किस मेडिकल वाले ने ये दी है ?
विक्की- आंटी मेरे दोस्त के मेडिकल स्टोर से लाया था लगता है उसने गलती से देदी या फिर उसने जान बूझ कर बदमाशी की है।
माया – अरे बेटा किसी भी दवाई को खाने से पहले नाम देख लिया करो। माया सोचने लगती है ,,,, अब क्या करू ये कैसे ठीक होगा पता नहीं,, राजेश को फ़ोन करू या नहीं राजेश को पता चला तो गुस्सा होंगे विक्की पर,, इसके माँ बाप को भी नहीं बता सकती ,, बड़ी मुसीबत में डाल दिया इस लड़के ने मुझे।

विक्की – आंटी बहुत तेज दर्द उठ रहा है।
माया – विक्की ये गोली जो लोग ठीक से सेक्स नहीं कर पाते है उसके लिए है और तुमने तो हाई डोज़ खा ली है, अभी जब तक तुम्हारा शांत नहीं होगा दर्द ठीक नहीं होगा।
विक्की – क्या करू आंटी, ऐसे डॉक्टर के पास भी नहीं जा सकता हूँ मम्मी पापा को पता चला तो प्रॉब्लम हो जाएगी।
माया- विक्की एक काम करो बाथरूम जाओ और अपने पेनिस को बहार निकल कर थोड़ी देर हिला लो वीर्य निकल जाने के बाद ये शांत हो जायेगा।
विक्की धीरे धीरे चलते हुए बाथरूम की तरफ जाने लगता है, विक्की का लंड कपडे फाड़ कर बाहर आने के लिए छटपटा रहा है, विक्की बाथरूम जा कर मुट्ठ मारने लगता है माया बाहर घबराई हुई खड़ी विक्की का इन्तजार कर रही है, विक्की बहुत देर बाद बाहर आता है और बोलता है आंटी हाथ दर्द हो गया लेकिन कुछ निकल नहीं रहा।
माया – आओ यहाँ सोफे पर बैठ जाओ ,,, माया सोचने लगती है,, जब तक इसे किसी लड़की या औरत का स्पर्श नहीं मिलेगा इसका इस हाल में झड़ना मुश्किल है, क्या करू ?
माया – विक्की अपने कपडे खोल कर पेनिस बाहर निकाल मैं देखती हूँ। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।

विक्की अपने कपडे खोल कर लंड बाहर निकाल कर बैठ जाता है, विक्की दर्द से पूरा पसीना पसीना हो चूका है, माया विक्की के 7 इंच लम्बे और मोटे लंड को देख कर थोड़ा चौक जाती है।

माया – विक्की आराम से पैर फैला कर बैठ जाओ, मैं हिला देती हूँ, सायद मेरे हाथ से जल्दी निकल जायेगा।

माया विक्की का लंड अपने खूबसूरत हाथों में लेकर आगे पीछे कर के हिलाने लगती है, 10-12 मिनट में माया का हाथ बहोत दर्द होने लगता है और माया रुक जाती है। विक्की दर्द में है और वियाग्रा की वजह से उसकी हवस दो गुनी हो चुकी है। विक्की अपना लंड माया के हाथों में देख कर खुस है लेकिन दर्द की वजह से मजे नहीं ले पा रहा है। माया चुपचाप विक्की के सामने उसके लंड को बैठ कर देख रही है और विक्की के दर्द कम होने का इंतजार कर रही है। विक्की को गोली खाये 2 घंटे हो चुके है गोली का असर कम होने लगा विक्की का दर्द कम हो चूका है लेकिन लंड अभी भी वैसा ही सख्त खड़ा है। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है। अब विक्की मजे लेना सुरु करता है और एक प्लान बना कर माया को चोदने की सोचता है। क्यों की आज किस्मत ने खुद उसका साथ दिया है और ऐसा मौका विक्की को अपनी जिंदगी में दोबारा कभी नहीं मिलेगा, अब विक्की थोड़ा कमीनापन दिखाते हुए बोलता है। 

विक्की – माया आंटी मैंने अपने दोस्तों से सुना है खड़ा लंड चोदने के बाद ही शांत होता है।
माया – ये कैसे बात कर रहा है तू ? माया सोचने लगती है .. ये जो भी बोल रहा है सच ही है लेकिन अभी इसकी तो शादी भी नहीं हुई है ये किसे चोदेगा ?
माया – लेकिन तू किसे करेगा ये सब? तेरी तो शादी भी नहीं हुई। आप ये स्टोरी इंडियन सेक्स कहानी डॉट कॉम पर पढ़ रहे है।
विक्की – दर्द का नाटक करते हुए और जोर से अह्ह्ह्हह्हह ओह्ह्ह्हह्ह चिल्लाते हुए बोलता है, आंटी आप मेरी मदद कर दो आप ने मुझे नंगा देख ही लिया है इतना होने के बाद आप थोड़ा और मदद कर दो ना प्लीज मुझ से दर्द और सहा नहीं जा रहा है।

माया से विक्की का दर्द देखा नहीं जा रहा और वो बहुत बड़ी दुविधा में पड गयी है , माया आज तक अपने पति के अलावा किसी और से चोदवायी नहीं है। माया को विक्की पर तरस आ जाता है और वो सोचती है एक बार करने से इसे आराम मिल जायेगा, अब मेरे पास कोई और रास्ता नहीं है.. ठीक है

माया – ठीक है मैं तैयार हूँ, तुम ठीक हो जाओ यही मेरे लिए जरुरी है, तुम्हारे माँ बाप और मेरे पति राजेश ने तुम्हारी देखभाल मुझे करने को बोला है, मेरी मज़बूरी यही है।

विक्की खुस होता है उसका माया को चोदने का सपना आज किसी सपने की तरह पूरा होने वाला था। विक्की माया के नंगे जिस्म और माया की बड़े – बड़े बूब्स, मोटी गांड और सेक्सी चूत देखने को बेक़रार हो जाता है। कहानी आगे जारी रहेगी………

कहानी शेयर करें::
loading...