बीवी की सहेली को टेबल पर बैठाकर पीछे से चूत में लंड डाल दिया

loading...

kamukta chudai story नदी के किनारे सोनिया ने नाहा के पीछे देखा तो उसकी सहेली रुकमनी का हसबंड वही बैठा हुआ था. सोनिया के बदन के ऊपर सिर्फ एक पतला तौलिया और पेंटी थी. वो गांड ढांकती थी तो आधे बूब्स बहार दीखते थे. और बूब्स पुरे कवर करे तो निचे की पेंटी साफ नजर आ जाती थी. वो मन ही मन सोचने लगी की काश ब्रा ले के आई होती! सोनिया अपनी सहेली रुकमनी के साथ यहाँ केम्पिंग ट्रिप पर आई थी. पूरा दिन की थकान भरी घुमाई के बाद वो लोग शाम को नहाने के लिए नदी पर आये थे. रुकमनी थोड़ी थकी सी थी इसलिए वो केम्पिंग के लिए लाये हुए कारावान में ही सो गई. सोनिया एक विधवा थी और उसे पता था की काफी दिनों से रुकमनी के पति रोहित की नजर थी. और आज रोहित को आँखे सेकने का सही मौका मिल गया था. रुकमनी ने चांस लेते हुए अपने बूब्स आधे खुले छोड़ दिए और गांड को ढँक के वो नदी की तरफ से कारावान की तरफ बढ़ गई. रोहित ने अपनी आँखों से ही सोनिया के सेक्सी बदन को चोद दिया. सोनिया जब करीब से गुजरी तो इस ठरकी अमीरजादे ने बड़ी सेक्सी स्टाइल से लंड को खुजा दिया.  सोनिया ने देखा की बरमुडे में लंड का आकार बना था. और अनुभवी आँखों ने पता लगा लिया की रोहित का लंड कम से कम आठ इंच का था. सोनिया एक मिनिट के लिए विचलित सी हुई लेकिन फिर उसने खुद के ऊपर काबू लार लिया. वो कारावान में घुसी तो देखा की रुकमनी लौड़े बेच के सोयी हुई थी. सोनिया ने देखा तो रोहित नदी की तरफ चल पडा था. ये पहाड़ी और नदी वाल एरिया शहर से थोड़ा दूर था. ये तीनो कारावान में ही रेडीमेड खाने के पैकेट्स और फ्रिज में कोल्डड्रिंक्स वगेरह ले के आये थे. सोनिया ने देखा की रोहित ने आलरेडी कुछ खाना गर्म किया था माइक्रोवेव में. उसने खाना खाया और वो साइड में एक दुसरे बेड पर जा के लेट गई. पता नहीं उसे ऐसी कैसी नींद आई की वो तौलिये में ही सो भी गई.

loading...

कुछ देर बाद रोहित जब नाहा के आया तो कारावान के अन्दर उसने सोनिया को देखा. तौलिया अपनी गाँठ से खुल के सोनिया के बूब्स पर आ गया था. और उसके दोनों कोर छूटने की वजह से सोनिया की मादक भरी हुई चूचियां उसमे से बहार झाँक रही थी. रोहित ने भी तौलिया डाला हुआ था अपने बदन पर. और उसके लौड़े ने भी तौलिये को ऊपर कर दिया. वो पीछे मुडा और उसने रुकमनी को देखा. वो अभी भी लौड़े बेच के लेटी हुई थी. सोनिया के बिस्तर के पास आ के रोहित ने बड़ी हिम्मत जुटा के अपने हाथ को उसकी दाहिनी चूची पर रख दिया. रोहित को लगा की वो कोई सपना देख रहा था. सोनिया भले ही उम्र में उस से बड़ी हो लेकिन उसकी चूची किसी जवान लड़की के जैसी फर्म यानी की टाईट थी. चूची के स्पर्श से रोहित के अन्दर की कामुकता की आग जैसे भडक उठी. वो और आगे गया. सोनिया के तौलिये को पकड़ के उसने स्लाईट खिंचा. वो तौलिया गिला था. सोनिया हिली भी नहीं.

रोहित ने सोनिया के दुसरे चुचे को टच किया. वो भी ऐसा ही सेक्सी और टाईट था. रोहित के लौड़े में बड़ी बेताब सी आ गई थी. उसने सोनिया के दोनों बूब्स को अब एक साथ पकड़ के दबाया. सोनिया के मुहं से आह निकल गया बस. उसने आँख खोली और देखा की रोहित उसके पास बैठा हुआ था. उसका लंड चमक रहा था और उसके ऊपर पानी की बुँदे भी थी. सोनिया एक पल के लिए जैसे चमक सी  गई. लेकीन महीनो के बाद ऐसा लंड देखा था इसलिए सेक्स की आग उसके बदन में जैसे भडक सी गई थी.

loading...

वो कुछ कहती उसके पहले रोहित ने उसके मुहं को अपने एक हाथ से दबा दिया. और रोहित ने अपने हाथ को मुहं पर रख के सोनिया को चुप रहने के लिए कहा. सोनिया ने आँखों से रोहित को हां कहा. रोहित का डर कम हुआ क्यूंकि सोनिया ने चुप रहने में हामी भरी थी. रोहित ने हाथ पहले ढीला किया. सोनिया की तरफ से कोई विरोध का सुर नहीं दिखा तो उसने मुहं के ऊपर दबाये हुए हाथ को वहां से हटा लिया. सोनिया अभी भी उसके चमकीले और नुकीले लंड को भी ही देख रही थी. रोहित उसकी चुचिया देख रहा था.

रोहित ने अपने हाथ को आगे कर के सोनिया के बूब को वापस टच किया. अब की उसक हाथ निपल के करीब था. वो हाथ को धीरे से बूब्स पर घुमाते हुए निपल तक ले गया. सोनिया के मुहं से आह निकल गई. रोहित ने हाथ कर के वापस चुप रहने को कहा. सोनिया सहम सी गई! उसने देखा की रुकमनी बेड में सोयी थी और उसकी बड़ी गांड अभी उन दोनों के तरफ थी. रोहित ने अपना लंड सोनिया को पकड़ा दिया. बड़े लंड के ऊपर सोनिया अपने हाथ से स्ट्रोक करने लगी. रोहित का लोडा बेकाबू सांड हो रहा था! सोनिया रुकमनी को बार बार देख रही थी. उसके पति का लंड लेने का मन वो बना चुकी थी लेकिन वो नहीं चाहती थी की रुकमनी ये सब डेक के दुखी हो.

रोहित ने खड़े हो के अपने तौलिये को फेंका साइड में. और उसने अपने लंड को एक हाथ से पाकड़ के सोनिया के मुहं के पास रख दिया. सोनिया ने माथे को हिला के नहीं नहीं कहा. लेकीन रोहित लंड चुसाने का फुल मन बना चूका था. उसने सोनिया को जबरन मुहं में दे दिया. सोनिया के मुहं में आधे से ज्यादा लंड घुसा और उसकी आँख से आंसू से आ गए. लंड उसके मुहं में ऊपर की साइड लग रहा था क्यूंकि वो लेटे हुए ही लंड को चूस रही थी.

पांच मिनिट के सकिंग के बाद रोहित ने बेड में सोनिया की गांड के निचे अपना हाथ डाला. और उसे पूरी उठा ली उसने. कारावान काफी बड़ा था और उसमे एक छोटा लायब्रेरी जैसा सेक्शन भी था. नंगी सोनिया को उठा के रोहित वही पर ले गया.

वहां पर उसने सोनिया को एक छोटे से टेबल पर बिठा दिया. कारावान के टेबल पर मुश्किल से सोनिया की पौनी गांड आ रही थी. रोहित ने उसकी दोनों टांगो को ऊपर उठा दिया. और पूरी चूत को एकदम खुला कर दिया. सोनिया की हेरी चूत एकदम घनी थी. उसके चूत के लिप्स एकदम बड़े थे और चूत का दाना भी. रोहित ने पहले एक ऊँगली से चूत का जायजा लिया. सोनिया को जैसे शर्म आ रही थी लेकिन चुदाई का नशा भी पूरा चढ़ा हुआ था उसके ऊपर. सोनिया की चूत में पहली ऊँगली आरंम से घुसी तो रोहित ने दूसरी ऊँगली भी अन्दर कर दी. दूसरी ऊँगली इतनी आराम से अन्दर नहीं घुसी. रोहित ने दोनों ऊँगली को अन्दर मिला के चुटकी के जैसा शेप बनाया. और इस चुटकी के बिच उसने चूत के दाने को फंसा लिया था. वो दोनों ऊँगली को दोनों तरफ से दबाता था. और सोनिया की चूत पर जैसे बड़ा अहसान हो जाता था! सोनिया को ऐसी फिंगर फकिंग कभी नहीं मिली थी. वो अपनी लेग्स को और जोर से खोल रही थी. और आवाज बहार ना आये इसलिए उसने अपने मुहं को दबाया हुआ था.

मस्त फिंगर सेक्स के नशे में सोनिया पागल हो रही थी. और रोहित मेक स्योर कर रहा था की सोनिया की चूत मस्त गीली हो ताकि उसके अन्दर लंड डालने पर उसे मजा आये.

और उसने सच में सोनिया की चूत को बड़ा चिकना कर दिया. उसने जब इस विधवा की चूत से ऊँगली बहार निकाली तो वो गम यानि की गोंद की तरह चिकनी हो गई थी. रोहित ने उस चूत की चिकनाहट को अपने लंड के सुपाडे पर ही लगा दिया. सोनिया अब इतनी चुदासी हो गई थी की उसने अपने हाथ में रोहित का लंड पकड़ के उसे चूत पर लगा दिया रोहित के धक्के ने मस्त काम कर दिया. और एक मिनिट के अन्दर तो रोहित अपनी गांड हिला के सोनिया को चोदने लगा था.

मस्त दस मिनिटचोदने के बाद रोहित ने अपने लंड का पानी सोनिया के बुर में ही छोड़ दिया. और फिर जब उसने लंड निकाला तो सोनिया ने उसे चूस के साफ़ कर दिया.

कहानी शेयर करें::
loading...