दामाद के साथ चुदाई भाग 1

loading...

xxx story आप सभी को रीता सिंह का नमस्कार दोस्तों मैं लखनऊ की रहने वाली हूं मेरे पति आर्मी में जॉब करते हैं और वह पंजाब में रहते हैं मेरे पति जॉब से 6 महीने बाद घर वापस आते हैं और जब वापस आते हैं तो हम दोनों जमकर सेक्स करते हैं मैं बहुत ही सेक्सी महिला हूं और मैं अपनी सासू मा के साथ लखनऊ में रहती हूं मेरी उम्र 33 वर्ष है और मेरे फिगर का साइज 34 30 36 है मुझे पता है कि जब मैं घर से बाहर जाती हूं तो तो सभी जवान व बुड्ढे मुझे घूर-घूर कर देखते रहते हैं आप सभी के ज्यादा टाइम ना लेते हो अब हम सीधे अपनी कहानी पर आती हूं |
यह कहानी मेरी शादी के 2 वर्ष बाद की है एक दिन हमारे घर मेरे पति के चचेरे भाई के दामाद सुनील हमारे घर आए उनको लखनऊ में अपनी कंपनी के काम से 1 हफ्ते के लिए रुकना था मेरे जेठ जी ने मेरे पति से बात कर के सुनील को मेरे घर एक हफ्ते रखने के लिए भेज दिया |
सुनील की उम्र लगभग 35 वर्ष थी सुनील मुझे चाची जी कहते थे मेरे हस्बैंड को जॉब पर गए हुए लगभग 3 महीने हो गए थे और सुनील को मेरे घर आए 2 दिन हो चुके थे उसी समय मेरी एक सहेली की बेटी के बर्थडे पार्टी में मुझे जाना था तो मैंने सुनील से साथ चलने के लिए कहा और सासू मां से पूछकर सुनील के साथ अपनी सहेली की बेटी की बर्थडे पार्टी के लिए शाम को 6:00 बजे घर से निकल लिया लगभग 1 घंटे का सफर करके 7:00 बजे साम को अपनी सहेली के घर पहुंच गई बर्थडे पार्टी में लगभग रात के 10:00 बज गए थे|
मैं और सुनील घर के लिए निकल लिए रास्ते में सुनील ने एक सुनसान सड़क के किनारे गाड़ी रोकी और कहा कि मुझे पेशाब करना है और वह थोड़ी दूर जा कर पेशाब करने लगे इधर ने 3 महीने से अपने पति से सेक्स नहीं करने के कारण वासना की आग में जल रही थी और मेरे मैं सुनील के बारे में गलत ख्याल आने लगे और मेरी चूत में गुदगुदी सी होने लगी और मैं भी गाड़ी से थोड़ी ही दूर पर बैठकर पेशाब करने लगी तभी सुनील गाड़ी के पास आकर मुझे इधर उधर देखने लगी मुझे गाड़ी के पास ना देखकर उन्होंने हल्की आवाज में मुझे पुकारा तो मैंने भी उन्हें जवाब दिया कि मैं भी पिशाब कर रही हूं पेशाब करने के बाद घर के लिए निकल पड़े |
रास्ते में मैंने सुनील से उसकी बीवी आरती के हाल-चाल पूछे तो सुनील ने जवाब दिया कि वह ठीक है सुनील और आरती के एक 2 साल की बेटी भी है तभी सुनील ने मुझसे पूछा की चाची बिना चाचा के कैसे रह लेती हो तो मैंने भी जवाब दिया कि क्या करूं ऐसी नौकरी ही है कि अकेले रहना पड़ता है अभी हम लोग थोड़ी ही दूर चले थे कि सुनील ने अचानक गाड़ी रोक दी और मुझे गाड़ी से उतरने के लिए कहा और खुद भी उतर कर गाड़ी के किनारे खड़े हो गए तो मैंने पूछा कि क्या हुआ तभी सुनील ने मुझे अपनी और घसीटा और मुझसे कहने लगे की चाची आई लव यू मैं तुमसे बहुत प्यार करता हूं मैं मन ही मन सोचने लगी कि सुनील ने तो मेरे मन की बात कह दी पर मैंने भी बहाना बनाते हुए कहा कि यह सब ठीक नहीं है आप हमारे दामाद हैं और मेरी बेटी के पति है मैं आपके साथ ऐसा नहीं कर सकती हूं पर सुनील ने मुझसे कहा कि चाची में आपसे बहुत प्यार करता हूं और सुनील ने मुझे अपनी और घसीट कर मेरे होठों पर अपने होंठ रख दिए और मुझे किस करने लगी मन तो मेरा बहुत कर रहा था कि मैं भी सुनील को ऐसे ही किस करती रहूं परंतु मैंने झूठ मूठ का दिखावा करते हुए सुनील को पीछे धकेल दिया और कहा कि यह सब ठीक नहीं है मैं आपके साथ या नहीं कर सकती अगर मेरी बेटी को पता चला कि मैं उसके पति के साथ यह सब कर रही हूं तो यह ठीक नहीं होगा फिर सुनील मेरे सामने बड़े भावुक होकर कहने लगे की चाची मुझे आपसे बहुत प्यार करता हूं और अगर आप मुझे ना मिली तो मैं मर जाऊंगा सर मैंने सुनील को समझाया कि ठीक है कि कल रात में मेरे कमरे में आ जाना|
इतना सुनते ही सुनील खुशी से उछल पड़े और मुझे गले लगा चाची आई लव यू चाची आई लव यू कहने लगे और फिर हम दोनों एक लंबा किस करने के बाद घर के लिए निकल पड़े दूसरे दिन जैसे ही रात के 10:00 बजे सुनील मेरे कमरे में आ गए और मुझे गले लगा लिया और मैं भी सुनील से बड़ी गरम जोशी के साथ गले मिली मेरी सास नीचे वाले कमरे में सोती हैं मैंने कितने कमरे से निकल कर पहले जीने का दरवाजा बंद किया तो सुनील ने पूछा दरवाजा क्यों बंद किया तो मैंने कहा कि कहीं सासु ना जाए फिर सुनील ने मुझे जल्दी से गोदी में उठाकर मेरे बेड पर लिटा दिया और मेरी नाइटी को जल्दी से उतार दिया कमरे में हल्का उजाला होने के कारण मेरा बदन चमक रहा था |
तभी सुनील ने अपना लोअर और टी शर्ट भी उतार दिया और सिर्फ अंडरवीयर में रह गए और सुनील ने जल्दी से मेरी ब्रा और पेंटी भी खोल दी मैंने भी मस्ती करते हुए सुनील की अंडरवियर कोई नीचे घसीट लिया जिससे सुनील का लण्ड अंडरवियर से बाहर आ गया सुनील का लण्ड देखते ही मेरा मुंह खुला का खुला रह गया क्योंकि सुनील का लण्ड मेरे पति के लण्ड से लगभग दोगुना था |
सुनील ने देर ना करते हुए मेरे दोनों पैरों को फैला कर मेरे दोनों पैरों के बीच में बैठ गए और अपने लण्ड का सुपाड़ा मेरी चूत के ऊपर से रगड़ने लगे सुनील के द्वारा मेरी चूत पर लण्ड रगड़े जाने से मेरी चूत लाल हो गई तुम मैंने सुनील से कहा अब नहीं रहा जाता जल्दी से डाल दो सुनील ने भी देर ना करते हुए लण्ड को मेरी चूत में डाल दिया लण्ड का सुपाड़ा चूत में जाते ही मेरी जान निकल गई तो मैंने कहा आराम से करना कई महीनों से नहीं चुदी हूं सुनील ने लण्ड को बड़े आराम से चूत में घुसेड़ना शुरू किया धीरे-धीरे सुनील ने पूरा लण्ड मेरी चूत के अंदर कर दिया और जोर जोर से धक्के मारने लगी हर धक्के के साथ मेरी आह निकल रही थी और मुझे मजा भी आ रहा था सुनील से सेक्स करने के दौरान मुझे ऐसा लगा कि जैसे पहली बार सेक्स कर रही हूं करीब 15 मिनट की लगातार चुदाई के बाद सुनील ने सारा वीर्य मेरी चूत के अंदर ही छोड़ दिया फिर हम दोनों ने डाल होकर एक दूसरे से लिपट कर थोड़ी देर के लिए आराम करने लगी|
शेष भाग अगले अंक में प्रकाशित करूंगी|

loading...
कहानी शेयर करें::
loading...